aarti lyrics

Laxmi Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi || लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स इन हिंदी || ॐ जय लक्ष्मी माता

 लक्ष्मी जी की आरती अगर आप नहीं जानते है तो इस पोस्ट में आपको लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में दिया गया है हमारे हिन्दू धर्म में लक्ष्मी जी का बहुत ही ऊँचा दर्जा दिया जाता है यही पे भारत में लक्ष्मी जी के नाम पे कई त्यौहार मनाया जाता है हिन्दू धर्म में जैसे दिवाली लक्ष्मी जी  प्रमुख दिन होता है और इस दिन गणेश तथा लक्ष्मी जी की अपार पूजा किया जाता है ऐसे कई त्यौहार भारत में मनाया जाता है जिसमे लक्ष्मी जी  महत्वपूर्ण होता है और  ऐसे टाइम पे आपको लक्ष्मी जी की आरती आपको नहीं  आती है तो बहुत अंदर से फील होता है की हमें अपने प्रिये पूजनीय लक्ष्मी जी की आरती नहीं आती है तो आज आप लोंगो को यंहा पे लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स हिंदी में पढ़ सकते है तथा याद कर सकते है यंहा पर गूगल पे लोग बहुत कुछ सर्च करते है जैसे laxmi ji ki aarti, laxmi ji ki aarti lyrics hindi,. 

maa laxmi ji ki aarti lyrics in hindi || लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स इन हिंदी || ॐ जय लक्ष्मी माता

जैसा की आप लोग जानते की कोई भी आरती या स्तुति को शुरू करने से पहले कोई श्लोक या सम्पुट कहा जाता है तो लक्ष्मी की आरती के लिए निचे ये वाला  श्लोक दिया गया है जिसे आप लोग पढ़ सकते है  

लक्ष्मी जी की आरती का श्लोक (laxmi ji ki aarti ka shlok in hindi)

 महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं सुरेश्वरि ।

हरि प्रिये नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥

पद्मालये नमस्तुभ्यं,

नमस्तुभ्यं च सर्वदे ।

सर्वभूत हितार्थाय,

वसु सृष्टिं सदा कुरुं ॥

Laxmi Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi || लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स इन हिंदी 

ॐ जय लक्ष्मी माता,

मैया जय लक्ष्मी माता ।

तुमको निसदिन सेवत,

हर विष्णु विधाता ॥

उमा, रमा, ब्रम्हाणी,

तुम ही जग माता ।

सूर्य चद्रंमा ध्यावत,

नारद ऋषि गाता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

दुर्गा रुप निरंजनि,

सुख-संपत्ति दाता ।

जो कोई तुमको ध्याता,

ऋद्धि-सिद्धि धन पाता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

तुम ही पाताल निवासनी,

तुम ही शुभदाता ।

कर्म-प्रभाव-प्रकाशनी,

भव निधि की त्राता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

जिस घर तुम रहती हो,

ताँहि में हैं सद्‍गुण आता ।

सब सभंव हो जाता,

मन नहीं घबराता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

तुम बिन यज्ञ ना होता,

वस्त्र न कोई पाता ।

खान पान का वैभव,

सब तुमसे आता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

शुभ गुण मंदिर सुंदर,

क्षीरोदधि जाता ।

रत्न चतुर्दश तुम बिन,

कोई नहीं पाता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

महालक्ष्मी जी की आरती,

जो कोई नर गाता ।

उँर आंनद समाता,

पाप उतर जाता ॥

॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

ॐ जय लक्ष्मी माता,

मैया जय लक्ष्मी माता ।

तुमको निसदिन सेवत,

हर विष्णु विधाता ॥

 लक्ष्मी जी की आरती video , mp3, pdf, download

  • लक्ष्मी जी की आरती PDF
  • लक्ष्मी जी की आरती लिखित में
  • लक्ष्मी माता जी की आरती mp3 डाउनलोड
  • लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स
  • सुबह-सुबह लक्ष्मी जी की आरती
  • श्री महालक्ष्मी की आरती
  • लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में
  • माता लक्ष्मी की आरती
  • लक्ष्मी जी की आरती लिखित में pdf
  • लक्ष्मी जी की आरती लिखी हुई
  • लक्ष्मी जी की आरती download
  • लक्ष्मी जी की आरती हिंदी में
  • लक्ष्मी जी की आरती लिखित में PDF
  • लक्ष्मी जी की आरती लिरिक्स
  • सुबह-सुबह लक्ष्मी जी की आरती
  • लक्ष्मी जी की आरती Download
  • लक्ष्मी जी की आरती वीडियो में
  • महालक्ष्मी जी की आरती
  • महालक्ष्मी की आरती लिखित

Pandit Rama Shanker

My name is Ramashankar, I love to discover new things about movies and my favorite celebrity from box office collections of movies like entertainment, [email protected]
Back to top button
error: Alert: Content selection is disabled!!

Adblock Detected

remove adblockers