Uttar Pradesh Hindi news

Uttar Pradesh Hindi news:- उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली के बिल एवं ट्यूबल का बिल में 50% छूट देने का लिया निर्णय

Advertisements

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा ही हाल ही में निर्णय लिया गया है किउत्तर प्रदेश में बिजली का बिल तथा ट्यूबल का बिल 50 परसेंट की माप यानी छूट दी जाएगी यह निर्णय लिया गया है जिसका अनाउंसमेंट सीएम ऑफिस टि्वटर हैंडल पर किया गया है जहां पर साफ-साफ लिखा गया है कि “किसानों की सुविधा और समृद्धि के लिए संकल्प श्री योगी आदित्यनाथ जी निजी नलकूप हेतु विद्युत दरों में वर्तमान दरों के सापेक्ष 50% छूट देने का निर्णय लिया है” यहां पर हम आपको बता दें दोस्तों की अभी के टाइम पर चुनाव का समय आ रहा है और इस समय तक लोग अधिक से अधिक अपने आप को सुधारने में लगे हुए हैं वहीं पर बीजेपी सरकार ने दावे किए हैं कि 50% बिजली का बिल वर्तमान दर के हिसाब से उसका 50% बिजली का बिल माफ किया जाएगा तथा ट्यूबल का जो बिल होता है उसमें भी आपको 50% का छोटे दिया जाएगा वहीं पर जो समाजवादी सरकार है उसने 300 यूनिट फ्री बिजली देने का वादा किया है तो अभी के टाइम पर जितनी भी सरकारें हैं चुनाव का समय आ रहा है सब लोग किसानों के हित के लिए बहुत सारे वादे करते हैं तथा बहुत सारे कार्य भी करते हैं

यहां पर हम थोड़ा बात करने वाले हैंउत्तर प्रदेश के बिजली के बारे में बिजली की कंपनियां उत्तर प्रदेश में पहले से ही घाटे में चल रही है वहीं पर यह सारी कंपनी को सरकार पहले से ही सब्सिडी दे रही है जहां पर सरकारें पहले से ही वादा किए जा रही है कि बिजली का बिल फ्री कर देंगे या 300 यूनिट फ्री में देंगे इसके अलावा सरकार यह भी कह रही है कि 50% वर्तमान दरों में छूट देंगे कहने में कोई भी दिक्कत नहीं है लेकिन उत्तर प्रदेश की बिजली कंपनियां घाटे में हैं और अब सरकार को अगर यह सारी चीजें और अपने वादों को पूरा करती है तो सरकार को लगभग डबल पैसे देने पड़ेंगे सब्सिडी के रूप में इन सभी कंपनियों को हम आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी जब आई थी तब बिजली के बिल में 50% का बढ़ोतरी देखने के लिए मिला था वहीं पर जब बीजेपी सरकार आई उसके बाद में बिजली के बिल में वहीं पर बीजेपी राज्य में बिजली का बिल 24% की बढ़ोतरी हुआ है पिछला इतिहास कोई नहीं देखता है बस सभी लोग अपने दावे और वादे किए जा रहे हैं मैं आशा करता हूं कि आप लोगों का भी बिजली का बिल 50% माफ होगा बीजेपी गवर्नमेंट के अंदर

Back to top button